Thursday, December 25, 2014

उत्सव –कथा



1- डॉ सुधा गुप्ता

मधु ॠतु ने
ठूँठ के कानों कही
नव पल्लव उत्सव कथा
गल्प कोरी गल्प
कहकर
उपेक्षा से ठूँठ ने
 मुँह फिरा लिया ।
-0-

2-डॉ सुधा गुप्ता का हिन्दी -दिवस पर अभिनन्दन





















 

6 comments:

  1. बधाई सुधा दीदी

    ReplyDelete
  2. bahut bahut badhai didi ji.
    pushpa mehra.

    ReplyDelete
  3. भावपूर्ण प्रस्तुति दीदी !...बहुत बधाई एवं
    सादर नमन के साथ
    ज्योत्स्ना शर्मा

    ReplyDelete
  4. aadarniy sudha ji ko sadar naman ke saath -saath ...madhu ritu si meethi prastuti ke liye ..bahut- bahut badhai...prabhu kare aap ka isi tarah abhinandan hota rahe.....shubhkaamnao ke saath -

    ReplyDelete
  5. आदरणीया सुधा जी को हार्दिक बधाई...| उनकी सशक्त कलम से उकेरे शब्द हम लोगों को निरंतर प्रेरित करते रहते हैं...|

    ReplyDelete
  6. Adarniya Sudha ji ko bahut bahut badhai, Nav-varsh ki shubhkamnaon sahit !

    ReplyDelete