Sunday, August 10, 2014

महके संसार



1-अनिता ललित

भाई की कलाई पर
सजे बहना का प्यार,
मन में उमंग
और नेह अपार।
पावन इस बंधन में
महके संसार
मुबारक़ हो आपको
रक्षा-बंधन का  त्योहार।
-0-
रक्षाबंधन  -हाइकु       
2-पुष्पा मेहरा      
 1
 जग को भेजी
 राखी उषारानी ने
 सात रंग की ।
 2
 रेशमी लड़ी
 है नाज़ुक-नरम
 प्रण से बँधी ।
 3
 राखी का धागा
 रक्षा की ढाल बना
 भैय्या के मन 
4
 मन में दुआ
 भाग्य छोटे भैया  का
 चमके सदा 
 5
 ओ ! चंदा भैया
 लो ! आ ही गए तुम
 राखी मनाने ।
6
 अकेला नहीं
 चाँदनी भाभी संग
 आया है चंदा ।
-0- 3-रेखा रोहतगी
1
उसने मुझे
भरपूर उजाला देने का
दावा किया
और मेरे आकाश का
सूर्य बन गया
फिर उसने
देने की उदारता में
मुझे भस्म ही कर डाला
-0-
2
जिससे भी
मेरा अपनापन रहा
उसी से हुई
मेरी कहासुनी
वरना
दुनिया मेरे लिए
मैं दुनिया के  लिए
रही अनसुनी
-0-

5 comments:

  1. कृपया आप अपने इस महत्वपूर्ण हिन्दी ब्लॉग को ब्लॉगसेतु ब्लॉग एग्रीगेटर से जोड़कर हमें कृतार्थ करें ... !!! धन्यवाद सहित

    http://www.blogsetu.com/

    ReplyDelete
  2. 'अपार नेह' ,सतरंगी ...कोमल नाज़ुक लड़ियाँ और गहन अनुभूति लिए क्षणिकाएँ ...बेहतरीन प्रस्तुति ...अनिता जी ,पुष्पा जी एवं रेखा जी को हार्दिक बधाई !

    ReplyDelete
  3. ...anita ji ,pushpa ji v rekha ji ko bahut badhai mahke sansaar ke liye....aap sabhi ki lekhni isi tarah mahakti rahe .....sadar naman.

    ReplyDelete
  4. मनभावन क्षणिकाएँ और हाइकु...बधाई आप सबको...|

    ReplyDelete