Sunday, January 5, 2014

किसी से भी न गिला

1-डॉ ज्योत्स्ना शर्मा
1
सबसे न्यारी
खुशियों की दस्तक
बहुत प्यारी !!
2
मन- निर्मल
किसी से भी न गिला
कोई तो मिला ... :)
-0-
2-मुमताज टी एच खान
1
काँटे ही सही
सुख दुख के साथी
सोचे गुलाब
2
मानव वेश
लिये बैठे  भेदिये
नोचने दे
3
री गागर
यादों के सागर से
लक उठी ।

.-0-

11 comments:

  1. बहुत सुन्दर क्षणिकायें।

    ReplyDelete
  2. सभी हाइकु उत्कृष्टता की कसौटी पर खरे उतरते हैं .

    नव वर्ष की हार्दिक बधाई आप सब को .

    ReplyDelete
  3. बहुत प्यारे हाइकू ...मुमताज जी के हाइकू काफी अच्छे लगे

    ReplyDelete
  4. खूबसूरत हाइकू .मंजुल भटनागर

    ReplyDelete
  5. बहुत सुंदर हाइकू ......नव-वर्ष की मंगल-कामनाएं ....

    ReplyDelete
  6. बहुत सुन्दर हाइकु...

    ~सादर
    अनिता ललित

    ReplyDelete
  7. सभी हाइकु भावपूर्ण, शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
  8. बहुत आभार आप सभी का .....
    हार्दिक शुभ कामनाओं के साथ
    ज्योत्स्ना शर्मा

    ReplyDelete
  9. सुन्दर और उत्कृष्ट हाइकु...बधाई...|

    ReplyDelete
  10. sabhi haiku bohot hi sateek hai.....aap sab ki sundar soch ko badhai......

    ReplyDelete