Monday, December 23, 2013

तुम दर्द नहीं हो

डॉ.ज्योत्स्ना शर्मा

मधुर-मधुर ये गाया करती ,
सुन्दर छंद सुनाया करती ।

तुम कान्हा हो तो मधुबन में ,
रसमय रास रचाया करती ।

शिवमय होकर पतित-पावनी ,
गंगा -सी बह जाया करती ।

राम ,रमा-पति कण्ठ लगाते ,
मुग्धा बहुत लजाया करती ।

चाहत थी जो तुम छू लेते ,
कलियों- सी महकाया करती ।

तुम बिन गीत-ग़ज़ल में कैसे ,
इतना रस बरसाया करती ।

अच्छा है ! तुम दर्द नहीं हो ,

वरना कलम रुलाया करती ।

14 comments:

  1. अच्छा है ! तुम दर्द नहीं हो ,
    वरना कलम रुलाया करती

    वाह ! आखिर की इन पंक्तिओं ने तो कविता के सौंदर्य को चार चाँद लगा दिए…. इतनी सुन्दर कविता पढ़वाने के लिए सहज साहित्य का शत शत धन्यवाद !

    ReplyDelete
  2. मेरी पंक्तियों को यहाँ स्थान देने के लिए आपका बहुत बहुत आभार भैया जी !

    सादर
    ज्योत्स्ना शर्मा

    ReplyDelete
  3. rachayita ne apane manobhavo.n ko anek roopo.n me .n dhalaa hai lekin dard se virakti chahi hai .kavita bahut kalpana purn hai. badhai
    .pushpa mehra.

    ReplyDelete
  4. अच्छा है ! तुम दर्द नहीं हो ,

    वरना कलम रुलाया करती ।
    सटीक ,सार्थक , सुन्दर सन्देश देती रचना
    बधाई

    ReplyDelete
  5. वाह, बहुत ही सुन्दर पंक्तियाँ..

    ReplyDelete
  6. मन झूम उठा ज्योत्स्ना जी...इतनी रसभरी कविता पढ़कर ! :)
    बहुत ही सुन्दर !
    'अच्छा है तुम दर्द नहीं हो
    वर्ण कलम रुलाया करती …' वाह! क्या कहने !

    ~सस्नेह
    अनिता ललित

    ReplyDelete
  7. बहुत सुंदर रचना ....!!सरस प्रभावशाली ...!!

    ReplyDelete
  8. बहुत सुन्दर भाव...

    अच्छा है ! तुम दर्द नहीं हो ,
    वरना कलम रुलाया करती ।

    ReplyDelete
  9. बहुत सुन्दर लयात्मक और पूर्णतया 'यती-गतिमय !

    ReplyDelete
  10. अच्छा है ! तुम दर्द नहीं हो , वरना कलम रुलाया करती . ----------- बहुत ही भाव पूर्ण पंक्तियाँ . ह्रदय को छू लेती है. बधाई !

    ReplyDelete
  11. vaah jyotsna ji,aap ne bahut hi sunder kavita likhi hai,,,,man prasann ho utha

    ReplyDelete
  12. पंक्तियों को मिले आपके स्नेह और आशीर्वाद के लिए आप सभी के प्रति हृदय से आभारी हूँ |

    सादर
    ज्योत्स्ना शर्मा

    ReplyDelete
  13. अच्छा है ! तुम दर्द नहीं हो ,

    वरना कलम रुलाया करती ।
    बहुत सुन्दर...बधाई...|

    ReplyDelete